शीशे का समंदर – Sheeshe Ka Samandar Lyrics in Hindi – द एक्सपोज 2014

0
1545
samundar-the-xpose
गाण्याचे शीर्षक:शीशे का समंदर
फिल्म :द एक्सपोज (2014)
गायक:अंकित तिवारी
संगीत:हिमेश रेशमिया

शीशे का समंदर फिल्म द एक्सपोज का गीत है। इस गाने की गायिका अंकित तिवारी ये हैं।

Hindi Lyrics

शीशे का समंदर
पानी की दीवारें
शीशे का समंदर
पानी की दीवारें

माया है, भरम है
मोहब्बत की दुनिया
इस दुनिया में जो भी गया
वो तो गया!

हो.. शीशे का समंदर
पानी की दीवारें
माया है, भरम है
मोहब्बत की दुनिया
इस दुनिया में जो भी गया
वो तो गया!

हो.. शीशे का समंदर
पानी की दीवारें
बर्फ की रेतों पे
शरारों का ठिकाना

गर्म सहराओं में
नर्मियों का फ़साना
यादों का आईना
उठता है जहां

सच की परछाईयां
हर जगह आती हैं नज़र
सोने के हैं बादल
पत्थरों की बारिश

माया है, भरम है
मोहब्बत की दुनिया
इस दुनिया में जो भी गया..
वो तो गया!

हो.. शीशे का समंदर
पानी की दीवारें
वो ओ ओ . . .

दिल की इस दुनिया में
सरहदें होती नहीं
दर्द भरी आंखों में
राहतें सोती नहीं

जितने एहसास हैं
अनबुझी प्यास हैं
ज़िंदगी का फलसफा
प्यार की पनाहों में छुपा

धूप की हवायें
कांटों के बगीचे
माया है, भरम है
मोहब्बत की दुनिया

इस दुनिया में जो भी गया
वो तो गया!
हो.. शीशे का समंदर
पानी की दीवारें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here