लैला मैं लैला – Laila Main Laila Lyrics In Hindi –कुर्बानी 1980

0
1016
गाने के शीर्षक:लैला मैं लैला
फिल्म:कुर्बानी
गायक:अमित कुमार , कंचन
गीतकार :कल्याणजी-आनंदजी
गीत काव्य:फारूक कैसर

Hindi Lyrics

लैला मैं लैला, ऐसी हूँ लैला
हर कोई चाहे मुझसे मिलना अकेला

जिसको भी देखूँ.. दुनिया भुला दूँ..
मजनू बना दूँ ऐसी मैं लैला

लैला ओ लैला लैला, ऐसी तू लैला
हर कोई चाहे तुझसे मिलना अकेला

ओ मोहब्बत का जिसको
तरीक़ा ना आया
उसे ज़िंदगी का सलीक़ा न आया
राह-ए-वफ़ा में जाँ पर जो खेला
उसके लिये है ये हसीनों का मेला

लैला मैं लैला, ऐसी हूँ लैला
हर कोई चाहे मुझसे मिलना अकेला

ओ लैला, अ ह, अ ह, अ ह
गुल्लु गुल्लु, गुल्लु गुल्लु …

मुझे देखकर जो ना देखे किसी को
मेरे वास्ते जो मिटा दे खुदी को
उसी दीवाने की बनूँगी मैं लैला
उसे प्यार दूँगी मैं पहला पहला

लैला मैं लैला, ऐसी हूँ लैला
हर कोई चाहे मुझसे मिलना अकेला
लैला ओ लैला लैला, ऐसी तू लैला
हर कोई चाहे तुझसे मिलना अकेला

लैला ओ लैला लैला, ऐसी तू लैला
हर कोई चाहे तुझसे मिलना अकेला
ला ल ल..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here