नहीं मालूम – Nahi Maloom Lyrics in Hindi – टोटल सियापा 2014

0
1159
nahin-maloom
गाण्याचे शीर्षक:नहीं मालूम
फिल्म:टोटल सियापा
गायक:अली जफर, फरिहा परवेझ
संगीत:अली जफर
गीत:अकील रुबी

नहीं मालूम फिल्म टोटल सियापा का गीत है। इस गाने की गायिका अली जफर, फरिहा परवेझ ये हैं। साथ ही इस गीत के शब्द अकील रुबी ने लिखे हैं।

Hindi Lyrics

नहीं मालूम मुझको क्या जगह थी
वो जहां मैं था
थी महफ़िल रक़्स में मस्ती में
बेखुद कल जहां मैं था

नहीं मालूम मुझको क्या जगह थी
वो जहां मैं था
थी महफ़िल रक़्स में मस्ती में
बेखुद कल जहां मैं था

लब-ओ-रुखसार हँसते थे
डर-ओ-दीवार गाते थे
दरकते थे, मटकते थे बदन
कल शाब जहां में था

नहीं मालूम मुझको क्या जगह थी
वो जहां मैं था
थी महफ़िल रक़्स में मस्ती में
बेखुद कल जहां मैं था

अजब था मीर महफ़िल
गज़ब था मीर-इ-महफ़िल
परी था हूर था वो
सारा बेनूर था वो

कि सदके उसपे सारे
दिल-ओ-जान उसपे हारे
थी ज़न्नत से भी बढ़कर
वो जगह कल शाब जहां में था

नहीं मालूम मुझको क्या जगह थी
वो जहां मैं था
थी महफ़िल रक़्स में मस्ती में
बेखुद कल जहां मैं था
ओ…

नहीं मालूम मुझको क्या जगह थी
वो जहां मैं था
थी महफ़िल रक़्स में मस्ती में
बेखुद कल जहां मैं था

लब-ओ-रुखसार हँसते थे
डर-ओ-दीवार गाते थे
दरकते थे, मटकते थे बदन
कल शाब जहां में था

नहीं मालूम मुझको क्या जगह थी
वो जहां मैं था
थी महफ़िल रक़्स में मस्ती में
बेखुद कल जहां मैं था

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here