देखा एक ख़्वाब – Dekha Ek Khwaab Lyrics in hindi सिलसिला – 1981

0
4202
Dekha-Ek-Khwab
गाने के शीर्षक:देखा एक ख़्वाब
फिल्म:सिलसिला
गायक:किशोर कुमार, लता मंगेशकर
अभिनीत:अमिताभ बच्चन, जया बच्चन, संजीव कुमार, रेखा
संगीत निर्देशक:शिव-हरी
गीत काव्य:हरिवंश राय बच्चन, राजेंद्र कृष्णन,
जावेद अख्तर

Hindi Lyrics

देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए…
दूर तक निगाहों में हैं गुल खिले हुए
ये गिला है आपकी निगाहों से…

फूल भी हो दरमियान तो फासले हुए…
देखा एक ख्वाब तो…
मेरी साँसों में बसी खुशबू तेरी…
ये तेरे प्यार की है जादूगरी

तेरी आवाज़ है हवाओं में
प्यार का रंग है फिजाओं
धडकनों में तेरे गीत हैं मिले हुए
क्या कहूँ की शर्म से हैं लब सिले हुए
देखा एक ख्वाब तो…

मेरा दिल है तेरी पनाहों में…
आ छुपा लूँ तुझे मैं बाहों में
तेरी तस्वीर है निगाहों में
दूर तक रौशनी है राहों में

कल अगर ना रौशनी के काफिले हुए…
प्यार के हज़ार दीप हैं जले हुए
देखा एक ख्वाब तो…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here